✅ Janmat Samachar.com© provides latest news from India and the world. Get latest headlines from Viral,Entertainment, Khaas khabar, Fact Check, Entertainment.

उपाध्यक्ष-पालिका परिषद् ने किशोरों में सुचारू टीकाकरण की जांच के लिए कोरोना टीकाकरण केंद्रों का दौरा किया

उपाध्यक्ष-पालिका परिषद् ने किशोरों में सुचारू टीकाकरण की जांच के लिए कोरोना टीकाकरण केंद्रों का दौरा किया

Advertisement

नई दिल्ली: माननीय प्रधान मंत्री के विजन पर और COVID-19 के खिलाफ एक वर्ष का देशव्यापी टीकाकरण अभियान पूरा करने पर, नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (NDMC) के उपाध्यक्ष, श्री सतीश उपाध्याय ने अटल आदर्श विद्यालय, मोती बाग, नई दिल्ली में कोरोना टीकाकरण केंद्र में 15-18 वर्ष के आयु वर्ग के किशोरों में सुचारू रूप से हो रहे टीकाकरण अभियान का दौरा किया ।

श्री उपाध्याय ने व्यक्तिगत रूप से निरीक्षण किया जहां किशोर अपनी पहली खुराक ले रहे हैं वहां सभी व्यवस्थाएं सुचारू रूप से चल रही हैं  ।  बच्चों के साथ संवाद करते हुए, श्री उपाध्याय ने स्वस्थ भोजन खाने, सक्रिय रहने और नियमित जांच कराने जैसी आदतों पर जोर दिया और कहा कि महामारी की अवधि में हम सभी को स्वस्थ रखने में टीकाकरण महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

श्री उपाध्याय ने बताया कि वर्तमान में एनडीएमसी के चिकित्सा सेवा विभाग से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, एनडीएमसी क्षेत्र के अंतर्गत सात (7) कोविड टीकाकरण केंद्र, दो (2) कोविड परीक्षण केंद्र और दो (2) कोविड मोबाइल इकाइयां चलाई जा रही हैं। उन्होंने बताया कि एनडीएमसी सेंटर में अब तक कुल 2,43,701 व्यक्तियों का टीकाकरण किया जा चुका है जबकि 3671 बच्चों ने आज तक टीकाकरण की पहली खुराक ली है। श्री उपाध्याय ने कहा कि महामारी के दौरान उपलब्ध टीके सबसे सुरक्षित और सबसे सुविधाजनक निवारक उपायों में से एक हैं और उन्होंने कहा की टीके न केवल सुरक्षित हैं बल्कि बीमारी/संक्रमण को रोकने का एक आसान तरीका भी हैं।

Advertisement

 श्री उपाध्याय ने माता-पिता से अपने बच्चों को टीकाकरण के लिए तैयार करने और उन्हें प्रेरित करने का आग्रह किया और उन्होंने कहा कि COVID-19 वैक्सीन नियमित टीके प्राप्त करने के अनुभव के समान है । श्री उपाध्याय ने कहा कि कोविड-19 का टीका लगवाने से बच्चों को कोविड-19 संक्रमण से बचाने में मदद मिल सकती है। उन्होंने कहा कि टीकाकृत बच्चे अपने परिवार के सदस्यों की रक्षा करने में मदद कर सकते हैं, जिसमें भाई-बहन जो टीकाकरण के लिए पात्र नहीं हैं और परिवार के सदस्य जिन्हें संक्रमित होने पर बहुत बीमार होने का खतरा हो सकता है।

 इस टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिये उन्होंने टीम एनडीएमसी में शामिल – डॉक्टर, नर्स, मेडिकल टीम, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और नागरिकों की प्रधानमंत्री के “स्वच्छ भारत: स्वस्थ भारत” के दृष्टिकोण और भारत की आजादी के 75 वें वर्ष “आजादी का अमृत महोत्सव” के तहत किये गए प्रयासों की सराहना की ।

Advertisement

Advertisement