✅ Janmat Samachar.com© provides latest news from India and the world. Get latest headlines from Viral,Entertainment, Khaas khabar, Fact Check, Entertainment.

Tarkishore Prasad.

बिहार में युवा शक्ति के विकास के साथ रोजगार के नए अवसर मिलेंगे : तारकिशोर

Advertisement

पटना| बिहार के उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए विधानसभा में पेश किए गए बजट पर सामान्य वाद-विवाद पर अपना उत्तर देते हुए गुरुवार को कहा कि राज्य के विकास में यह बजट मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि इस बजट से बिहार में युवा शक्ति के विकास के साथ रोजगार के नए अवसर मिलेंगे।

उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण जहां एक ओर वर्ष 2020 में राजस्व प्राप्ति में कमी आई, वहीं दूसरी तरफ आम आदमी की बुनियादी जरूरतों को पूरा करने के लिए लोक व्यय में वृद्घि हुई। बिहार की आर्थिक व्यवस्था को पुन: पटरी पर लाने के लिए प्रयास किया गया है।

उन्होंने कहा कि बिहार के विकास के लिए वर्ष 2015 में राज्य सरकार द्वारा सात निश्चय योजना को प्रारंभ किया गया था, जिसके उत्साहवर्धक परिणाम आए हैं, जिस से प्रेरित होकर बिहार सरकार द्वारा अगले 5 वषों (2020 से 2025 तक) के लिए आत्मनिर्भर बिहार के सात निश्चय पार्ट-2 के अंतर्गत सात लक्ष्य निर्धारित किया है।

Advertisement

उन्होंने कहा कि, “बिहार सरकार युवाओं के बेहतर भविष्य के लिए बजट 2021-22 में अनेक कार्यक्रम निर्धारित किए हैं। युवाओं के शिक्षा, प्रशिक्षण एवं युवा उद्यमिता विकास पर हमने विशेष ध्यान केंद्रित किया है। हमारे युवा बाजार की मांग के अनुरूप आधुनिक तकनीक वाले रोजगार, स्वरोजगार से जुड़ सकेंगे।”

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में चिकित्सा शिक्षा एवं अभियंत्रण शिक्षा को सु²ढ़ करने के लिए एक चिकित्सा विश्वविद्यालय, एक अभियंत्रण विश्वविद्यालय, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम एवं स्पोर्ट्स एकेडमी के साथ राजगीर के खेल परिसर में एक खेल विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी।

अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि बजट 2021-22 के माध्यम से महिलाओं के सामाजिक विकास के कार्यों को अधिक गति प्रदान करने के उद्देश्य से जहां एक ओर जीविका कार्यक्रम को अस्पतालों में दीदी की रसोई एवं सरकारी तालाबों का रख-रखाव से जोड़ने की स्वीकृति दी गई है।

Advertisement

राज्य सरकार ने महिलाओं को सरकारी नौकरी में 35 प्रतिशत आरक्षण देकर महिला सशक्तिकरण की दिशा में कदम बढ़ाया है। प्रसाद ने कहा कि जहां एक ओर औद्योगिक प्रोत्साहन नीति में संशोधन किया गया, वहीं दूसरी ओर खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में, काष्ठ से संबंधित क्षेत्र में अनेक कार्यक्रम प्रारंभ किए गए हैं। उद्योग के साथ-साथ कृषि एवं मत्स्य संसाधन विभाग सहित अन्य सभी विभागों द्वारा मिलकर अतिरिक्त रोजगार का सृजन करने के लिए व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है।

उन्होंने कहा कि इन प्रयासों से वर्ष 2020-2025 में सरकारी एवं गैर सरकारी क्षेत्रों में रोजगार के 20 लाख से ज्यादा नए अवसर सृजित किए जाएंगे।

उन्होंने अंत में विपक्ष पर खास कर राजद नेता तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए कहा, “विरासत से तय नहीं होंगे सियासत के फैसले, उड़ान तय करेगी कि यह आसमां किसका है।”

Advertisement

–आईएएनएस

Advertisement