✅ Janmat Samachar.com© provides latest news from India and the world. Get latest headlines from Viral,Entertainment, Khaas khabar, Fact Check, Entertainment.

दिल्ली विश्वविद्यालय का 100वां दीक्षांत समारोह 24 फरवरी को उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ होंगे मुख्यातिथि भारतीय सांस्कृतिक परिधान में दिखेंगे विद्यार्थी और शिक्षक

Advertisement

नई दिल्ली, 22 फरवरीदिल्ली विश्वविद्यालय के 100वें दीक्षांत समारोह का आयोजन 24 फरवरी को किया जा रहा है जिसमें भारत के उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ मुख्यातिथि होंगे। समारोह की अध्यक्षता दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. योगेश सिंह करेंगे। इस समारोह के माध्यम से 2023 में अपनी डिग्री पूरी करने वाले यूजी और पीजी के एक लाख, 38 हजार, 20 विद्यार्थी दीक्षित होंगे। कार्यक्रम का आयोजन दिल्ली विश्वविद्यालय के खेल परिसर स्थित मल्टीपर्प्ज हाल में होगा। इस अवसर पर तीन पुस्तकों का विमोचन भी किया जाएगा। इस बार 100वें दीक्षांत समारोह पर कुछ नई चीजें भी होने जा रही हैं। कार्यक्रम के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. योगेश सिंह ने बताया कि इस बार दीक्षांत परिधान में बदलाव किया गया है। विद्यार्थिय भारतीय संस्कृति के अनुरूप अंगवस्त्र धारण करके दीक्षांत समारोह में भाग लेंगे। इस बार डिग्री में भी काफी बदलाव नज़र आएंगे।

अलग-अलग रंगों के स्टोल में नज़र आएंगे विद्यार्थी  

कुलपति ने बताया कि पी.जी. के विद्यार्थियों के लिए फ़िरोज़ा रंग का गोल्डन बॉर्डर वाला हैंडलूम फैब्रिक स्टोल होगा जिसके दोनों किनारों की ओर विश्वविद्यालय का लोगो और शताब्दी लोगो बने होंगे। यू.जी. के विद्यार्थियों के लिए पीले रंग का गोल्डन बॉर्डर वाला हैंडलूम फैब्रिक स्टोल होगा जिसके दोनों किनारों की ओर विश्वविद्यालय का लोगो और शताब्दी लोगो बने होंगे। पीएच.डी., डी.एम. और एम.सीएच. के विद्यार्थियों के लिए लाल रंग का गोल्डन बॉर्डर वाला हैंडलूम फैब्रिक स्टोल होगा जिसके दोनों किनारों की ओर विश्वविद्यालय का लोगो और शताब्दी लोगो बने होंगे। उन्होने बताया कि अधिकारियों के लिए बैंगनी रंग का स्टोल हो जबकि प्रिंसिपलों और विभागाध्यक्षों के लिए महरून रंग का स्टोल होगा।

Advertisement

डिग्री में होंगे 17 सिक्योरिटी फीचर

कुलपति ने बताया कि इस बार डिग्री में भी काफी बदलाव किए गए हैं। इस बार विद्यार्थियों की माता का नाम भी डिग्री पर छापा गया है। इसके साथ ही विद्यार्थियों की रंगीन फोटो भी डिग्री पर छपी होगी। प्रो. योगेश सिंह ने बताया कि डिग्री पर करेंसी नोटों की तरह 17 विभिन्न सिक्योरिटी फीचर होंगे जिस कारण उसकी नकल करना आसान नहीं रहेगा। उन्होंने बताया कि दीक्षांत समारोह में आने वाले प्रतिभागियों के साथ एक-एक परिजन को भी आने की छूट दी गई है और उनके लिए भी भोजन की व्यवस्था की गई है।

207 मेडल/ पुरस्कार किए जाएंगे प्रदान  

Advertisement

कुलपति प्रो. योगेश सिंह ने बताया कि इस बार दीक्षांत समारोह में 207 मेडल/ पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे जिनमें 173 गोल्ड मेडल एवं सर्टिफिकेट होंगे और 34 पुरस्कार सर्टिफिकेट होंगे। उन्होंने बताया कि इन मैडलों/ पुरस्कारों को प्राप्त करने वाले कुल विद्यार्थियों की संख्या 167 है जिनमें 110 महिला और 57 पुरुष विद्यार्थी शामिल हैं। पीएचडी धारकों का आंकड़ा भी साढ़े छ: सौ के करीब हो सकता है। दीक्षांत के लिए कुल डिग्री धारकों की संख्या 138020 है जिनमें से 130697 यूजी और 7323 पीजी विद्यार्थी हैं। इनमें 58545 पुरुष और 79475 महिला विद्यार्थी शामिल हैं।

Advertisement

About Author