✅ Janmat Samachar.com© provides latest news from India and the world. Get latest headlines from Viral,Entertainment, Khaas khabar, Fact Check, Entertainment.

vivek ko samman

हॉकी खिलाड़ी विवेक सागर पर सौगातों की बरसात

Advertisement

भोपाल| टोक्यो ऑलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के सदस्य रहे मध्य प्रदेश के विवेक सागर पर राज्य सरकार ने सौगातों की बरसात की है। उन्हें एक करोड़ का चेक दिए जाने के साथ मनचाहे शहर में मकान और उप-पुलिस अधीक्षक की नौकरी देने का सरकार ने ऐलान किया है। इंटरनेशनल यूथ-डे पर गुरुवार को मिंटो हाल सभागार में मध्यप्रदेश के टोक्यो ओलंपिक- 2020 के पदक विजेता और प्रतिभागियों के सम्मान समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश सरकार ओलंपिक हॉकी खिलाड़ी विवेक सागर के परिवार को पक्का मकान दिलवाएगी। उनका परिवार जिस नगर या ग्राम में मकान चाहेगा, वहीं उपलब्ध करवाया जायेगा। साथ ही एक करोड़ रुपए की सम्मान निधि का चेक प्रदान करते हुए मध्यप्रदेश शासन में डी.एस.पी. (उप पुलिस अधीक्षक) का पद देने की भी घोषणा की।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया है। वे हमारी प्रेरणा हैं। राज्यों को इस दिशा में रुचि लेकर खिलाड़ियों को आवश्यक सुविधाएं दिलवाना है, जिससे वे स्वर्णिम इतिहास रच सकें। टोक्यो ओलंपिक में भारत को हॉकी में मिला कांस्य पदक सिर्फ पदक नहीं हैं बल्कि यह हॉकी का पुनर्जागरण है।

मुख्यमंत्री चौहान ने अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी विवेक सागर को शाल और सम्मान निधि देकर सम्मानित किया। साथ ही सहायक कोच शिवेन्द्र सिंह को 25 लाख रुपए की सम्मान निधि देने की घोषणा की।

Advertisement

चौहान ने कहा कि आज हमने हॉकी में दुनिया के सामने अपनी श्रेष्ठता का सबूत दिया है। महिला हॉकी में भी भारत का भविष्य उज्जवल है। ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम चैथे नम्बर पर रही। वे आखरी मैच हारी जरूर लेकिन अच्छे खेल प्रदर्शन से पूरे देश का दिल जीत लिया। मध्यप्रदेश सरकार महिला हॉकी टीम की प्रत्येक खिलाड़ी को 31-31 लाख रुपए देकर सम्मानित किया जायेगा।

खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि हम कई वर्ष से ओलंपिक के द्वार पर पदक प्राप्ति के लिए दस्तक दे रहे थे। विवेक सागर ने इस द्वार को खोला है।

सांसद और मध्यप्रदेश ओलंपिक संघ के उपाध्यक्ष वी. डी. शर्मा ने कहा कि मध्यप्रदेश में 18 खेल अकादमी हैं। खेलों के उन्नयन के लिए सभी कदम उठाये गये हैं।

Advertisement

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री चौहान ने खिलाड़ियों की हिम्मत बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।

विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने कहा कि यदि बीज को खाद और पानी मिले तो पौधे को वृक्ष बनने में देर नहीं लगती। यही बात खिलाड़ियों के साथ भी लागू होती है। मध्यप्रदेश की खेल प्रतिभाएं आने वाले वर्षों में और अधिक सफलताएं प्राप्त करेंगी।

–आईएएनएस

Advertisement
Advertisement